S.N.

Book Name

Author

Price

1ब्लैक होल (काव्य नाटक)उद्भ्रांत350
2आलोचना का वाचिक (वाचिक आलोचना)उद्भ्रांत695
3अस्तिउद्भ्रांत750
4अभिनव पाण्डवउद्भ्रांत300
5सृजन की भूमिउद्भ्रांत757
6लघु पत्राकारिता आन्दोलनउद्भ्रांत547
7सदी का महाराग (उद्भ्रांत की कविताओं का संचयन)रेवती रमण297
8कहानी का सातवां दशकउद्भ्रांत127
9हँसो बतर्ज रघुवीर सहायउद्भ्रांत297
10उद्भ्रांत की गजलों का यथार्थवादी दर्शनऐ. सिन्हा127
11माकर्स प्रेमचन्द, प्रसाद, मुक्तिबोधडाॅ. सुरेश गौतम1295
12अज्ञेय स्मृतियों के झरोखे सेनीलम ऋषिकल्प795
13हिन्दी उपन्यास सांस्कृतिक परिदृश्यज्योति वत्स1195
14जनसंचारिकी सिद्धान्त और अनुप्रयोगडाॅ. रामलखन मीना1295
15चन्द्रकांता संतति (भाग 1+06)देवकी नन्दन खत्री2400
16भारतीय समाजडाॅ. एम. के. मिश्रा1195
17भारतीय दर्शन के विविध आयामशीलक राम695
18बीसवीं शताब्दी के अंतिम दशक के हिन्दी उपन्यासों में जीवन दृष्टिडाॅ. रुपिन्द्र शर्मा750
19पुस्तकालय सूचना एवं स्रोत सेवाडाॅ. दिनेश कुमार995
20कम्प्यूटर विज्ञाननीति मेहता450
21कम्प्यूटर इंटरनेट शब्दकोशनीति मेहता450
22कबीर और मानवाधिकारडाॅ. शिवमंगल कुमार395
23इंटरनेट विज्ञाननीति मेहता450
24आज का दर्शनशास्त्राशीलक राम895
25अज्ञेय एक अलक्षित पत्राकारडाॅ. अमरीश सिन्हा595
26आदिवासी अशांति : कारण चुनौतियाँ एवं सम्भावनाएँडाॅ. वी. एम. मलिक395
27प्रमुख देशों की विदेश नीतियाँएम. के. मिश्रा995
28हिन्दी साहित्य एवं भाषा के विविध आयामडाॅ. जितेन्द्र सिंह1295
29व्यावहारिक दर्शन शास्त्राशीलक राम595
30मानवाधिकार एवं मुद्देराजेश चहल495
31सम्पूर्ण नाटक एवं एकांकी (भाग - 1, 2)डाॅ. सुरेश गौतम2500
32जयशंकर प्रसाद - सम्पूर्ण उपन्यासडाॅ. सुरेश गौतम1195
33जयशंकर प्रसाद - सम्पूर्ण निबन्धडाॅ. सुरेश गौतम995
34जयशंकर प्रसाद - सम्पूर्ण कहानियाँडाॅ. सुरेश गौतम995
35निबन्धकार जयशंकर प्रसादडाॅ. सुरेश गौतम395
36प्रसाद साहित्य की बीजभूमिडाॅ. सुरेश गौतम495
37जयशंकर प्रसाद नाटक एवं रंगमचडाॅ. सुरेश गौतम395
38कबीरवाणी का भाषा वैज्ञानिक अध्ययनडाॅ. वेदवृत शर्मा395
39बुनियादी शिक्षा : समस्यायें और सम्भावनाएँडाॅ. अभिषेक कुमार695
40प्रकृति पर्यावरण और हमराजेश्वरी झा200
41कबीर एक जीवंत स्पंदनडाॅ. यामिनी195
42स्वामी दयानन्द सरस्वती के राजनीतिक विचारडाॅ. शान्ता मल्होत्रा295
43भारत की प्रमुख स्मृतियाँडाॅ. विप्लव1095
44लोकतन्त्रा के प्रमुख स्तम्भडाॅ. विप्लव1095
45भारत में महिला मानवाधिकारडाॅ. विप्लव995
46हिन्दी साहित्य के प्रतिमानडाॅ .संतराम संघर्षी450
47प्रशासनिक सिद्धान्तडाॅ. विप्लव995
48ब्रजलोक साहित्य नव चिंतनडाॅ. शैफाली चतुर्वेदी595
49कबीर : व्यक्तित्व, कृतित्व एवं सिद्धान्त (दो भागों में)डाॅ. सरनाम सिंह शर्मा2500
50हिन्दी लोक साहित्य का प्रबन्धनडाॅ. राजेश्वर उनियाल1095
51प्रयोजनमूलक हिन्दी : सृजन और समीक्षाडाॅ. रामलखन मीणा995
52बौद्ध दर्शन का उद्भव और विकासडाॅ. मनीष मेश्राम995
53ब्रज लोक साहित्य : नवचिंतनडाॅ. शेफाली चतुर्वेदी595
54भारत में मानवाधिकारडाॅ. दीपक वर्मा995
55प्रशासनिक एवं कार्यालयी हिन्दीप्रो. सरिता वशिष्ठ1495
56हिन्दी पत्राकारिताडाॅ. महेन्द्र कुमार मिश्रा1195
57गाँधी और राष्टंभाषा हिन्दीडाॅ. सुनीता कुमारी चौरसिया895
58भाषा विज्ञानप्रो. सरिता वशिष्ठ995
59हिन्दी साहित्य के इतिहास का बिन्दुवार अध्ययनडाॅ. अरुण कुमार495
60भारतीय वाघमय में धर्म और संस्कृतिडाॅ. विद्या बिन्दु सिंह995
61महिलाओं के कानूनी अधिकारडाॅ. महेन्द्र कुमार मिश्र995
62महादेवी वर्मा की साहित्य - साधनाप्रो. पुष्पारानी595
63भारत का सामाजिक अधिकारडाॅ. महेन्द्र कु. मिश्र1095
64भारतीय सभ्यता एवं संस्कृतिडाॅ. महेन्द्र कु. मिश्र995
65पत्राकारिता के सिद्धान्तडाॅ. महेन्द्र कु. मिश्र1095
66बाल विकास तथा बाल मनोविज्ञानडाॅ. दीपक वर्मा995
67भारत का संविधानराजेश चहल595
68भारत में परिवार - विवाह और नातेदारीडाॅ. एम. के. मिश्र995
69भारतीय संगीत परम्पराडाॅ. संजीव कुमार शर्मा995
70भारत में जिला प्रशासनडाॅ. कमलेश गुप्त595
71हिन्दी साहित्य वर्तमान दशकसरिता वशिष्ट450
72हिन्दी भाषा एवं साहित्यसंतराम संघर्षी895
73हिन्दी के कालजयी कविसरिता वशिष्ट695
74स्वातंत्रयोत्तर एकांकी : बदलते मूल्यडाॅ. नीते जयसिंघानी495
75हिन्दी नाटक : रंगानुशासन एवं प्रायोगिक नवोन्मेषवीणा गौतम795
76गुरुदत्त का उपन्यास साहित्यसंतराम संघर्षी450
77कबीर वाणी में काव्य रूढ़ियाँराकेश कुमार बब्बर850
78स्वामी दयानन्द सरस्वती : प्रेरक प्रसंगरिषिराज भारद्वाज295
79भारतीय चेतना एवं चिन्तनमोहन मैत्री695
80डाॅ. भीमराव अम्बेडकर मनोज कुमाररवि रंजन595
81जवाहर लाल नेहरूमनोज कुमार, रवि रंजन595
82इलेक्ट्रॉनिक मीडिया लेखनडाॅ. हरीश अरोरा695
83महात्मा गाँधीमनोज कुमार, रवि रंजन595
84विनोबा भावेमनोज कुमार, रवि रंजन595
85समकालीन यात्रा - वृत्तों में सांस्कृतिक सन्दर्भडाॅ. हरिसिमरन कोर मुल्लर700
86श्रावस्ती और बलरामपुर के साहित्यकारडाॅ. सतीश कुमार यादव350
87प्रिंट मीडिया लेखनडाॅ. हरीश अरोड़ा695
88श्रीमद्भागवत और तुलसी - साहित्यडाॅ. हरिशंकर मिश्रा650
89हिन्दी उपन्यासों में सामाजिक चेतनाडाॅ. राजेश रानी395
90डाॅ. जगदीश गुप्त और उनका ब्रजभाषा काव्यडाॅ. अजय सिंह चौहान450
91हिन्दी साहित्य और समीक्षाडाॅ. कृष्ण गोपाल मिश्रा495
92वाल्मीकि और प्राकृत अपभ्रंश राम साहित्यपं. मिथिला प्रसाद त्रिपाठी750
93हिन्दी काव्य और गीतों में राष्टंप्रेमहरि सिमरन भुल्ला550
94दूधनाथ सिंह का साहित्यहरि सिमरन भुल्ला750
95कठपुतली में युग सत्यरजनी बाला250
96भारतीय स्वतन्त्राता का इतिहासशिवानी गुप्ता900
97भारत के राष्टंपतिगीता शर्मा825
98भारत में जातीय व्यवस्थाशिवानी गुप्ता925
99भारतीय राजनीति की दिशा एवं दशा (स्वतंत्राता के पूर्व)पवन कुमार850
100भारतीय राजनीति की दिशा एवं दशा (स्वतंत्राता के पश्चात)पवन कुमार850
101पंचायती राज और ग्रामीण विकाससुरेन्द्र त्यागी950
102भारत कासंविधान (दो भागों में)डाॅ. महेन्द्र कुमार मिश्र2590
103आधुनिक भारत में सामाजिक परिवर्तनसुरेन्द्र त्यागी925
104भारत में प्रशासनिक संस्थाएँपवन कुमार875
105भारत (पं. जवाहर लाल नेहरू से मनमोहन सिंह तक)गीता शर्मा850
106अस्तित्ववाद और मोहन राकेश का साहित्यडाॅ. गीता यादव650
107वैश्वीकरण और मानवाधिकारडाॅ. विनोद500
108सामाजिक स्त्रीकरण तथा परिवर्तनवंदना वोरा750
109महानगरों में महिला अपराधडाॅ. अपर्णा त्रिपाठी750
110महिला अधिकार एवं महिला श्रममीनाक्षी सिंह695
111पर्यावरण विधिविनायक त्रिपाठी900
112पर्यावरण संरक्षण : एक चुनौतीडाॅ. विनोद450
113बाल शोषण एवं बाल श्रमनिशांत सिंह795
114मीडिया की आधुनिक चुनौतियांप्रो. मधुसूदन त्रिपाठी700
115दलित आत्मकथा (हिन्दी) के सरोकाररूपा सिंह500
116स्त्री विमर्श के विविध सन्दर्भडाॅ. सियाराम900
117महिला स्वास्थ्य शिक्षा प्रसार के आयामडाॅ. कविता कुमारी600
118महिला कानूनमीनाक्षी सिंह700
119आधुनिकता और महिला उत्पीड़नमीनाक्षी निशान्त सिंह450
120महिला उद्यमिताडाॅ. अंशुजा तिवारी, डाॅ. संजय500
121महिला राजनीति और आरक्षणडाॅ. निशान्त सिंह450
122महिला विकास : एक मूल्यांकनप्रो. मधुसूदन त्रिपाठी500
123भारत में कार्यशील महिलाएँअंजली वर्मा450
124महिला अपराध् और कानूननारेन्द्र कुमार शर्मा750
125इक्कीसवीं सदी का महिला सशक्तीकरण : मिथक एवं यथार्थडाॅ. वीरेन्द्र सिंह यादव700
126दलित महिला विकास योजना एवं बालिका शिक्षणडाॅ. सीता जडिया600
127स्त्रीसशक्तीकरण : एक मूल्यांकनडाॅ. निशान्त सिंह450
128स्वतन्त्राता संग्राम और महिलाएँमीनाक्षी सिंह600
129मानवाधिकार और दलितमीनाक्षीसिंह650
130नई सहस्राब्दि का दलित आन्दोलनडाॅ. वीरेन्द्र सिंह यादव995
131दलित और शिक्षाडाॅ. संजय सिंह795
132ग्रामीण जनचेतना में संचार माध्यमडाॅ. आलोक कुमार कश्यप575
133समाचार पत्रा : सम्पादन एवं पृष्ठ सज्जाआर. के. गुप्ता550
134भाषा विज्ञान एवं हिन्दी भाषाबी. डी. शर्मा600
135मीडिया लेखन कलानिशांत सिंह650
136भारतीय पत्राकारिता के आधारभारत भूषण डब्लू495
137महिला राजनीति और आरक्षणडाॅ. निशान्त सिंह450
138शोध प्रविधिवदना वोहरा600
139स्वतन्त्राता संग्राम और पत्राकारितानरेन्द्र कुमार शर्मा550
140पत्राकारिता और सम्पादनमीनाक्षी सिंह650
141पत्राकारिता में सम्पादक का महत्वज्ञानेश प्रकाश अवस्थी550
142बीसवीं सदी के महानायक बाबा साहब डाॅ. भीमराव अम्बेडकरडाॅ. वीरेन्द्र सिंह यादव995
143उत्तर आधुनिकता की पृष्ठभूमि : कुछ विचार कुछ प्रश्नडाॅ. वीरेन्द्र सिंह यादव795
144भारतेन्दु हरिश्चन्द्र का रचना संसार : एक पुनर्मूल्यांकनडाॅ. वीरेन्द्र सिंह यादव600
145समाचारों की दुनियाभगवानदास500
146हिन्दी पत्राकारिता का इतिहासमीनाक्षी सिंह650
147हिन्दी पत्राकारिता का बदलता स्वरूपश्रवण कुमार550
148भारत में दलित विकासमीनाक्षी सिंह650
149पत्राकारिता : कल, आज और कलसंतोष कुमार595
150जनसम्पर्क प्रबन्धनमीनाक्षी सिंह450
151भारतेन्दु हरिश्चन्द्र के साहित्य में भावबोध् : स्थापनाएँ और प्रस्थापनाएँडाॅ. वीरेन्द्र सिंह यादव600
152आर्थिक पत्राकारिता : दशा और दिशाप्रो. मधुसूदन त्रिपाठी495
153जनसंचार एवं पत्राकारिताकुमारी शिप्रा550
154उत्तर आधुनिकता विचार और मूल्यांकनडाॅ. वीरेन्द्र सिंह यादव650
155हिन्दी पत्राकारिता : इतिहास एवं विकासआर. के. गुप्ता550
156विज्ञापन प्रबन्धनडाॅ. निशान्त सिंह400
157पत्राकारिता और समाजसंतोष कुमार650
158भारत में प्रेस कानूनप्रो. मधुसूदन त्रिपाठी650
159मेरी आत्मकथा : सत्य के प्रयोगमोहनदास करमचंद गाँधी695
160मोहनदास करमचन्द गाँधीप्रो. मधुसूदन त्रिपाठी300
161महिला सशक्तिकरण का सचमीनाक्षी निशांत सिंह400
162भारत में मानवाधिकारप्रो. मधुसूदन त्रिपाठी450
163नई सहस्त्राब्दी का दलित आन्दोलन मिथक एवं यथार्थडाॅ. वीरेन्द्र सिंह यादव995
164नई सहस्त्राब्दी में मानवाधिकार के विविध सन्दर्भडाॅ. वीरेन्द्र सिंह यादव795
165सत्तामूलक समाज एवं सामाजिक परिवर्तन के युगपुरुष : डाॅ. भीमराव अम्बेडकरडाॅ. वीरेन्द्र सिंह यादव995
166भारत में पंचायती राजअंजली वर्मा600
167भारत के आदिवासीप्रो. मधुसूदन त्रिपाठी600
168इक्कीसवीं सदी में मुसलमान चिन्तन एवं सरोकार (2 भागों में)डाॅ. वीरेन्द्र सिंह यादव1500
169नई सहस्त्राब्दी का महिला सशक्तिकरण अवधरण, चिन्तन एवं सरोकार (3 भागों में)डाॅ. वीरेन्द्र सिंह यादव2100
170इलेक्ट्रॉनिक मीडिया और हिन्दीडाॅ. रेशमा नदाफ300
171ग़ज़ल और ग़ज़ल की तकनीकिरामप्रसाद शर्मा "महर्षी"347
172राम की शक्तिपूजा और रुद्रावतारशीतल सेठ107
173हिन्दी ग़ज़ल का सौन्दर्यात्मक विश्लेषणअनिरुद्ध सिन्हा137
174ज्ञानी ताहि बखानीडाॅ. रामस्वरूप शर्मा247
175कर्मभूमि उपन्यास में देश और समाजडाॅ. एल. पी. लमाणी160
176नजीर अकबराबादी के काव्य का परिचयात्मक विमर्शडाॅ. शमशाद अली150
177यादवेन्द्र शर्मा "चन्द्र" : व्यक्तित्व और कृतित्वगीता मा. बेणचेकर195
178साहित्य और पत्राकारिता : एक परिक्रमाडाॅ. चन्द्रकान्त मेहता600
179कृष्णा सोबती की कहानियों में मनोवैज्ञानिकताभरत के. बावलिया350
180अनुवाद विज्ञानडाॅ. रामगोपाल सिंह700
181दिनकर के काव्य में प्रगतिशील चेतनादेवज्ञानी सेन895
182हिन्दी कहानी एवं मुस्लिम परिवेशडाॅ. इल्यास जेठवा1095
183हिन्दी काव्य में औदात्य की अभिव्यंजनाडाॅ. चन्द्रकला भाटा175
184श्री रामदरश मिश्र की कहानियों में युगबोधडाॅ. अमी दवे895
185जनसंचार माध्यम में हिन्दी की स्थिति और दिशाडाॅ. कीर्ति कुमार जादव795
186मोहन राकेश की कहानियों में युग चेतनादीप्ती पी. परमार675
187अनुवाद के विविध आयामडाॅ. राम गोपाल सिंह650
188आधुनिक हिन्दी का शोधपरक व्याकरणडाॅ. राम गोपाल सिंह700
189अमृता प्रीतम के उपन्यासों का समीक्षात्मक अनुशीलनडाॅ. कल्पना सी. रायठटा795
190राजभाषा प्रशासनिक एवं व्यावसायिक शब्दकोशसंगीता आर. मोगले500
191हिन्दी के प्रमुख उपन्यासों में जनवादी चेतनाडाॅ. महेन्द्र कुमार300
192विवेचनात्मक निबन्धडाॅ. शकीला खानम150
193हिन्दी व बांग्ला के आदिकाल के साहित्य में इतिहास बोधप्रो. शीला मिश्र150
194सुमित्रा नन्दन पंत के काव्य में संस्कृति और जीवन दर्शनडाॅ. दीपा गुप्ता300
195रसखान विवेचनात्मक अध्ययनडाॅ. निर्मला नारायण200
196नागार्जुन के काव्य में जीवन मूल्यडाॅ. त्रिवेणी झा400
197नई कविता वस्तु और रूप तथा अन्य निबन्धडाॅ. श्याम राव400
198हिन्दी साहित्य : एक दृष्टिकोणडाॅ. शुभदा बांजपे275
199हिन्दी के उत्पादक रुपिम और प्रयोजनमूलक आयामडाॅ. प्रीति साहनी200
200हिन्दी संज्ञा संरचना और कुछ रूपिमडाॅ. प्रीति सोहनी125
201फणीश्वर नाथ रेणु के "मैला आंचल" का भाषा शैली परख अध्ययनडाॅ. जी. प्रवीणा भाई250
202मुक्तिबोध जीवन संघर्ष बनाम काव्य संघर्षडाॅ. श्याम राव325
203सत्ता, साहित्य और पत्राकारिताआलोक पाण्डेय200
204अज्ञेय के निबन्धसच्चिदानन्द चतुर्वेदी225
205आंध्र प्रदेश की आदिवासी संस्कृतिसुरेश जगन्नाथम150
206उपन्यासकार देवेश ठाकुरडाॅ. संगीता कोटिया150
207काव्यानुवाद की समस्याएँडाॅ. शकीला खानम150
208समकालीन कहानियों में टूटते हुए मानवीय सम्बन्धडाॅ. टी. सुमति350
209युग चेता निबन्धकार : डाॅ. धर्मवीर भारतीडाॅ. मंजुषा श्रीवास्तव350
210संस्कृत - साहित्य का मौलिक इतिहासडाॅ. राकेश मणि त्रिपाठी550
211हिन्दी साहित्य का तथ्यात्मक अनुशीलनबालमुकुंद सुखवाल600
212आधुनिक कविता राष्ट्रीय सांस्कृतिक जागरण के सन्दर्भ मेंडाॅ. एस. पद्मप्रिया350
213वजही का साहित्य : सांस्कृतिक मूल्यांकनडाॅ. अफसर उन्निसाँ बेगम500
214धर्मवीर भारती का कथा संसारडाॅ. मंजूषा श्रीवास्तव300
215हिन्दी दलित आत्मकथाओं का सांस्कृतिक विश्लेषणडाॅ. छाया400
216उत्तरशती के हिन्दी उपन्यासों में मुस्लिम जनजीवनडाॅ. टी. जे. रेखारानी400
217इतिहास - बोध् और आधुनिक हिन्दी नाटकडाॅ. आर. शशिधस150
218मन्नू भण्डारी का रचना संसारडाॅ. बीना ईप्पन300
219लक्ष्मीनारायण लाल के नाटकों में अस्तित्ववादडाॅ. ऐ. एस. शशिकला देवी300
220जगदीश चन्द्र का उपन्यास - साहित्य : एक सामाजिक अनुशीलनडाॅ. सरस्वत परमार300
221आधुनिक हिन्दी नाटकों में सामाजिक व्यंग्यडाॅ. आर. शशिध्रन300
222पत्राकारिता का संसार और हिन्दी उपन्यासडाॅ. पीबा मनोज350
223साहित्यिक तीर्थयात्रा के निष्कर्षडाॅ. पी. के. चन्द्रन250
224डाॅ. रामदरश मिश्र जी के उपन्यासों में चित्रित नारीडाॅ. एम. शाहुल हमीद175
225कवि दिनकर और भारतीय संस्कृतिडाॅ. के. भार्गवन225
226सांस्कृतिक प्रदूषण : वैश्विक परिदृश्यडाॅ. पशुपतिनाथ उपाध्याय350
227नाटककार लक्ष्मीनारायण लाल : विचार और कृतित्वडाॅ. मंजु सिन्हा300
228साहित्य और परिवेशवेदप्रकाश "अमिताभ"300
229मैत्रोयी पुष्पा और मेघना पेठे की कहानियों में अभिव्यक्त नारीधेडिबा समशव भुरे200
230मानक - व्यवहारिक - हिन्दी व्याकरण तथा भाषा बोधडाॅ. संतशरण शर्मा "संत"400
231महादेवी वर्मा : व्यक्तित्व एवं कृतित्वडाॅ. विमलेश तेवतिया450
232कबीर कवि और युग : एक पुनर्मूल्यांकनडाॅ. के. श्रीलता300
233हिन्दी साहित्य और राष्ट्रीय समन्वयडाॅ. श्रीलता विष्णु275
234कविता का समाजशास्त्राडाॅ. विश्वम्भर दयाल गुप्ता150
235हिन्दी पत्राकारिता : संसद से समाचार पत्रा तकसं. डाॅ. माया त्रिपाठी175
236तीन नाट्य रूपान्तरगिरीश रस्तोगी125
237सर्वेश्वर दयाल सक्सेना के गद्य में राजनैतिक व सामाजिक व्यंग्यडाॅ. के. मणिकंठन नायर250
238माॅरीशसीय हिन्दी भाषा और साहित्यडाॅ. सतीश चन्द्र अग्रवाल200
239मोहन राकेश के नाटक एक विश्लेषणात्मक अध्ययनडाॅ. के. गोमतिअम्मा350
240आंचलिक उपन्यास के आईने में दक्षिण भारतडाॅ. वी. बालकृष्णन्350
241मीडिया लेखन और सम्पादन कलागोविन्द प्रसाद650
242पत्राकारिता के विविध् आयामगोविन्द प्रसाद400
243पत्राकारिता की आधुनिक प्रवृत्तियाँअनुपम पाण्डेय600
244समाचार और जनसंचारगोविन्द प्रसाद400
245हिन्दी पत्राकारिता का स्वरूपगोविन्द प्रसाद725
246पत्राकारिता और समाजडाॅ. यू. सी. गुप्ता625
247हिन्दी पत्राकारिता का स्वरूपडाॅ. यू. सी. गुप्ता750
248पत्राकारिता के विविध आयामडाॅ. यू. सी. गुप्ता680
249पत्राकारिता समस्या और समाधानडाॅ. यू. सी. गुप्ता650
250इलेक्ट्रॉनिकस मीडिया एवं सूचना प्रौद्योगिकीडाॅ. यू. सी. गुप्ता725
251मीडिया लेखनडाॅ. यू. सी. गुप्ता700
252मीडिया लेखन और प्रिंट पत्राकारिताडाॅ. यू. सी. गुप्ता625
253सम्पादन कलाडाॅ. यू. सी. गुप्ता590
254व्यावहारिक पत्राकारिताडाॅ. यू. सी. गुप्ता550
255आधुनिक विज्ञान और जनसम्पर्कडाॅ. यू. सी. गुप्ता725
256कम्प्यूटर शिक्षणरमा शर्मा एवं एम. के. मिश्रा600
257महिला विश्वकोश (दस भागों में)रमा शर्मा एवं एम. के. मिश्रा9500
258निराला की जातीय चेतनानीरज कुमार400
259बीसवीं शताब्दी का उत्तरार्द्धडाॅ. सुधा गुप्ता400
260व्यवहारिक हिन्दीप्रो. रवीन्द्र नाथ यादव325
261अद्भुत भारत (दो भागों में)घनश्याम सिंह4000
262व्यवहारिक सूक्ति कोश (दो भागों में)प्रेमलता गौतम1800
263नरेश मेहता के कथा साहित्य में मध्य वर्गडाॅ. जयकरण1195
264द्विजवेद और उनका काव्य - भावभावना शर्मा895
265नाटककार दया प्रकाश सिन्हा - समीक्षायनरवीन्द्र नाथ995
266माकर्सवाद : एक पुर्नविचारडाॅ. परबत सिंह300
267दूरदर्शन का स्वरूप एवं हिन्दी प्रस्तुतीकरणडाॅ. उन्मेष मिश्र200
268विभाजक रेखासुभद्रा300
269नया परिदृश्य : नरेन्द्र मोहन के नाटकडाॅ. गुरुचरण सिंह500
270यशपाल के उपन्यासों में मध्यवर्गरामप्रकाश द्विवेदी300
271सत्ता व्यक्ति और भूमण्डलीकरणरामप्रकाश द्विवेदी300
272शिवानी के उपन्यासों में नारी विमर्शकृष्णा जून500
273आदिकालीन धर्मिक रासकाव्य : परम्परा एवं प्रवृत्तियाँडाॅ. कृष्णा जून300
274नरेन्द्र मोहन का नाट्य कर्मडाॅ. गुरुचरण सिंह500
275इलेक्ट्रॉनिक मीडिया और हिन्दीडाॅ. रेशमा नदाफ300
276व्यवहारिक हिन्दी व्याकरणआचार्य निशान्त केतु300
277निराला काव्य में प्रकृतिरेणु बाला400
278हिन्दी कहानी और मुस्लिम समाजदीपिका रानी275
279नयी कविता का सौन्दर्य बोध्डाॅ. तिलक राज शर्मा500
280प्रतिरोध का दस्तावेज : महिला आत्मकथाएँनीरू400
281जनसंचार एवं पत्राकारिताडाॅ. रेशमा नदाफ250
282महादेवी की सूक्तियाँडाॅ. विमल शंकर500
283मानव मुक्ति और सन्त साहित्यडाॅ. अजैब सिंह500
284भीष्म साहनी का साहित्य : युग सन्दर्भडाॅ. पठान रहीम खान995
285शमशेर बहादुर सिंह के काव्य का अर्थोत्कर्षडाॅ. अनुपाल भारद्वाज400
286जनसम्पर्क : स्वरूप और सिद्धान्तडाॅ. राजेन्द्र प्रसाद750
287समकालीन विमर्श : विविध परिदृश्यसं. डाॅ. श्रवण मीणा795
288विविध साहित्यिक वादडाॅ. रामसजन पाण्डे500
289उत्प्रेक्षा अलंकार - विमर्शडाॅ. रामसजन पाण्डे500
290अनुवाद : अनुभूति और अनुभवडाॅ. सुरेश सिंहल1050
291निर्गुण काव्य की सांस्कृतिक भूमिकाडाॅ. रामसजन पाण्डे995
292आदिवासी कहानी विविध संदर्भडाॅ. श्रवण कुमार मीणा500
293महिला सशक्तिकरणडाॅ. ऊषा रानी600
294अनुवाद संवेदना और सरोकारडाॅ. सुरेश सिंहल1150
295महादेवी वर्मा के साहित्य में स्त्री छविडाॅ. अरविन्दर कौर995
296हिन्दी भाषा एवं साहित्य का इतिहास (यूजीजी, नेट/ स्लेट) भाग - 1, 2, 3डाॅ. वंदना शर्मा9000
297रचना और आलोचना का वर्तमान परिदृश्यप्रो. आलोक गुप्त500
298सिनेमा वक्त के आइने मेंराजेन्द्र सहगल400
299संवाद के बहानेडाॅ. गुरचरण सिंह350
300मीडिया लेखन : सिद्धान्त और व्यवहारडाॅ. चन्द्रप्रकाश मिश्र1100
301हिन्दी नाटक वर्तमान सन्दर्भडाॅ. परमेश्वरी शर्मा250
302दूरदर्शन के श्रव्य और दृश्य तत्वडाॅ. उन्मेष मिश्र450
303हिन्दी साहित्य का इतिहासडाॅ. रामसजन पाण्डेय600
304मालिक अम्बर (नाटक)नरेन्द्र मोहन200
305दलित सशक्तिकरणडाॅ. नीतू काजल750
306नाटककार रमेश मेहता रंग - समग्र (दो खण्डों में)रवीन्द्र नाथ बहोरे2150
307उदयराज सिंह का कथा साहित्यडाॅ. उषा सिन्हा350
308भक्तिकालीन सन्त साहित्यप्रो. वीरेन्द्र नारायण650
309छायावादोत्तर हिन्दी कविता में ग्राम्य बोध्डाॅ. सरोज वर्मा400
310पंत समग्रडाॅ. सूर्य प्रसाद दीक्षित400
311उपन्यासों में माकर्सवादडाॅ. वीरेन्द्र कुमार695
312नालन्दा जिले की विरासत : अतीत एवं वर्तमानडाॅ. मनोज कुमार300
313बाबा नागार्जुन और उनके उपन्यासडाॅ. दिनेश प्रसाद450
314रामकथा की दिग्विजयडाॅ. भूपेन्द्र कलसी595
315विभु, व्यापक विष्णु के विविध नामों का समीक्षात्मक अनुशीलनडाॅ. दिवांशु कुमार750
316डाॅ. रामदरश मिश्र के उपन्यासडाॅ. दिनेश प्रसाद सिंह650
317भत्य भारत (दो भागों में)आचार्य चन्द्र6000
318मृणाल पांडे के साहित्य में युगबोधडाॅ. ऊषा रानी1495
319बोध और ठाकुर की काव्यधाराडाॅ. संगीता गुप्ता1100
320उपन्यासकार राजेन्द्र यादवडाॅ. अजमेर सिंह900
321हिन्दी भाषा और साहित्यडाॅ. नरेश मिश्र600
322नागार्जुन की कविताडाॅ. जोगेन्द्र मीणा600
323बावन पत्तों का रहस्यरवीन्द्र नाथ695
324सपने बोलते हैंरवीन्द्र नाथ बहोरे795
325लोक साहित्य अर्थ और व्याप्तिडाॅ. सुरेश गौतम900
326स्वातंत्रयोत्तर भारतीय साहित्य के सामाजिक सरोकारडाॅ. हेमलता राठौर750
327स्त्री विमर्श : भारतीय नवजागरण कालप्रो. मणिक्यांब मणि750
328उत्तरशती की हिन्दी समीक्षा और विचार प्रणालियाँदीपक नरेश450
» next