welcome to Aman Prakashan kanpur,u.p.(india)-Home
× About Us New Releases Best Sellers FAQ & Help Catalogue Gallery Contact Us

Catalogue »  कविता संग्रह

  S. No.   Book Name Author Price
1   गीत गंगा     गोपाल दास ‘नीरज’   60
2   प्रवेशिका - प्रथम     गोपाल दास ‘नीरज’   60
3   प्रवेशिका - द्वितीय     गोपाल दास ‘नीरज’   60
4   गीत श्री     गोपाल दास ‘नीरज’   60
5   गीत गंगा     गोपाल दास ‘नीरज’   60
6   जीवन बोलता है     डॉ. शिवदत्त द्विवेदी   300
7   बहता है दर्द     विजय निकोर   350
8   देवदारु सी लम्बी - गहरी सागर सी     उद्भ्रांत   500
9   समय के अश्व पर     उद्भ्रांत   495
10   बस्तियों से बाहर     जयप्रकाश कर्दम   120
11   मेरी लम्बी कविताएँ     नरेन्द्र मोहन   150
12   नृत्य से कविता     नरेन्द्र मोहन   70
13   कुकुरमुत्तों का शहर     विज्ञान भूषण   150
14   काँटों ने पहने मोती     डॉ. गौतम सचदेव   200
15   पुनर्नवा     ऋतु भनोट   200
16   किसान कथा     डॉ. रामचन्द्र सरस   150
17   इन्द्रधनुष     डॉ. सुमंगला मुम्मिगट्टी   350
18   अनुभूति से अभिव्यक्ति तक     कुसुमलता   295
19   खिड़की से आकाश     मुक्ता   200
20   अधूरी देह     गीतिका वेदिका   150
21   सीतायन     अनु. धरणेन्द्र कुरकुरी   175
22   सृष्टि की आहटें     मेधावी जैन   195
23   माँ - छाया बरगद की     सफलता ‘सरोज’   200
24   मजदूर     डॉ. जगदीश चन्द्र सितारा   120
25   कर्मण्येवाधिकारस्ते     सुरेश चन्द्र   200
26   सहमी हुई सदी     देवेन्द्र सफल   200
27   इक पावक ऋतुओं पर भारी     अशोक सिंह ‘सत्यवीर’   70
28   समकालीन कविता कोश (दो भागों में)     डॉ. गुरचरण सिंह   330
29   जनरल बोगी (कविता-संग्रह)     डॉ. रामचन्द्र सरस   200
30   संवेदना पर सिलवटें (कविता-संग्रह)     डॉ. कमल मुसद्दी   225
31   स्वर्ण मुक्तावली (कविता संग्रह)     अनिता एस. कर्पूर   200
32   नवेली के पंख (कविता संग्रह)     सुषमा कपिल   175
33   गागर से छलकता सागर     कुसुम सिंह अविचल   275
34   चिन्दी-चिन्दी अस्तित्व     बसंत कुमार परिहार   200
35   अनुभूतियों के मोती     डॉ. इन्दू जैन   325
36   रुह से कविता     नीलम रानी गुप्ता   125
37   लोक कह्याँ बिगड़ी (स्त्री काव्य संकलन)     सं. प्रो. परिमला अंबेकर   60
38   कमलादास की कवितायें     डॉ. बाबू जोसफ, स्टीव विन्सेन्ट   120
39   मेरे भगवान     भगवान का सेवक   60